एस्ट्राजेनेका टीका बनाने के लिए अनुबंधित एक भारतीय कंपनी के प्रमुख ने कहा कि टीका जनवरी तक कोरोना योद्धाओं और बुजुर्ग भारतीयों तक पहुंच सकता है। क्योंकि कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।

दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीन निर्माता कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया पहले ही ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के सहयोग से विकसित होने वाली वैक्सीन की लाखों खुराक का निर्माण कर चुकी है, जबकि देर-सवेर परीक्षणों के परिणामों का इंतजार है।

ब्रिटेन की एस्ट्राजेनेका ने दुनिया भर की कंपनियों और सरकारों के साथ आपूर्ति और विनिर्माण सौदों पर हस्ताक्षर किए हैं। मेडिकल जर्नल द लांसेट में प्रकाशित आंकड़ों से पता चलता है कि एस्ट्राजेनेका के टीके ने पुराने वयस्कों में एक मजबूत प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया उत्पन्न की।

Comments

Related Posts

Google Pay recently announced that a debit card will charge fees on its money transfer, which will ...
Indore HD
November 30, 2020
इंदौर प्रशासन ने सड़कों पर किसी भी मूर्ति या मूर्ति की स्थापना को समाप्त कर दिया है , जिससे शहर की ...
Team IndoreHD
November 30, 2020
रेलवे ने यात्रियों की सुविधा को देखते हुए इंदौर-जबलपुर-इंदौर ट्रेन के समय में बदलाव किया है। बदलाव 1 ...
Team IndoreHD
November 30, 2020
X