इंदौर नगर निगम (आईएमसी), जो स्वच्छता के कदमों में देश के सामने उदाहरण स्थापित करने के लिए जाना जाता है, पाँच शून्य अपशिष्ट पैदा करने वाले वार्ड बनाने के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए तैयारी कर रहा है।

आयुक्त प्रतिभा पाल ने कहा था कि वे पांच वार्डों को शून्य कचरा पैदा करने वाले वार्ड बनाने जा रहे हैं। आईएमसी ने उन वार्डों की पहचान की है जहां इसकी टीमों ने काम शुरू कर दिया है। अक्टूबर-अंत तक, आईएमसी कम से कम दो से तीन वार्ड शून्य अपशिष्ट उत्पन्न करने वाले वार्ड बनाना चाहता है।

स्वच्छ भारत मिशन के तहत शहर के वार्ड 73 को शून्य अपशिष्ट वार्ड बनाने के लिए आईएमसी द्वारा एक अभियान शुरू किया गया है। अभियान के हिस्से के रूप में, निगम कर्मचारी और एनजीओ बेसिक्स के प्रतिनिधियों ने वार्ड में निवासियों को घर पर खाद बनाने के लिए प्रशिक्षित किया। उन्होंने घर में खाद डालने के टिप्स ही नहीं, बल्कि घर वालों को घर में खाद के डिब्बे भी दिए।

टीम IndoreHD नगर निगम की इस पहल की सराहना करता है और आशा करता है की इंदौर शहर के सभी वार्ड जीरो वेस्ट जनरेटिंग वार्ड बने।

Featured Image

Comments

Related Posts

स्वच्छता में चौका लगाने के बाद इंदौर नगर निगम ने पांचवीं बार नंबर वन-1 आने की दिशा में कदम बढ़ा रहा ...
Team IndoreHD
September 22, 2020
अनलॉक के बाद दुकानों में भीड़ और सोशल डिस्टैन्सिंग का पालन न होने से कोरोना के मामले शहर में बढ़ते जा ...
Team IndoreHD
September 22, 2020
शहर में कोरोना के केसेस में बढ़ोतरी को ध्यान में रखते हुए इंदौर स्वास्थ्य विभाग कोविड-19 एरिया की ...
Team IndoreHD
September 22, 2020
X