इंदौर शहर जहाँ पर निरंतर विकास कार्य हो रहें है, वही स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत इंदौर की रैंकिंग पिछले दो महीनों में दो स्थान नीचे चली गई है, क्योंकि राज्य से धन जारी करने में देरी हुई है।

सितंबर में केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय द्वारा जारी रैंकिंग के तहत शहर पांचवें स्थान पर रहा है। स्मार्ट सिटी पहल के तहत 73.93 अंकों के साथ कुल मिलाकर परियोजनाओं की प्रगति के लिए जुलाई में शहर पहले देश में तीसरे स्थान पर था।

आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय द्वारा हर सप्ताह विभिन्न मापदंडों के आधार पर रैंकिंग जारी की जाती है, जैसे कुल परियोजनाएँ, परियोजनाएँ पूरी हुईं, परियोजनाओं पर कार्य आदेश जारी किया गया, केंद्र और राज्य से प्राप्त धन, और उसके उपयोग।, हालांकि, बाद में, अगस्त में, इंदौर की स्थिति चौथे स्थान पर आ गई। इंदौर स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट लिमिटेड (ISCDL) के अधिकारियों ने इस गिरावट के लिए राज्य से धन जारी करने में देरी को जिम्मेदार ठहराया।

टीम IndoreHD यही आशा करता है की जल्द ही इंदौर शहर को विकास के लिए फंड्स मिलते रहे और यहां निरंतर कार्य होता रहे।

Comments

Related Posts

भारत बायोटेक, जिसने 22 अक्टूबर से COVID-19 वैक्सीन 'कोवाक्सिन' को 3 चरण के नैदानिक परीक्षण शरू कर ...
Team IndoreHD
October 24, 2020
धार्मिक कार्यक्रमों के लिए जिला प्रशासन द्वारा प्रतिबंधात्मक धारा 144 के तहत जारी किए गए निर्देशों ...
Team IndoreHD
October 24, 2020
देश में पहली बार सांवेर उपचुनाव में मतदान दल मतदाता के घर पहुंचा। डॉक्टर चुनाव अधिकारी की भूमिका में ...
Team IndoreHD
October 23, 2020
X