इंदौर-धार रोड पर बेटमाखुर्द में 450 एकड़ में इंटरनेशनल मेगा फर्नीचर क्लस्टर को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंजूरी मिल गई है। सोमवार को भोपाल में हुई बैठक में सीएम ने इस क्लस्टर का प्रेजेंटेशन देखा और इसे आत्मनिर्भर मप्र नीति के तहत मंजूर कर लिया।

बैठक में बताया गया कि इंदौर में अभी फर्नीचर कारोबारियों का सालाना कारोबार टर्नओवर एक हजार करोड़ का है, जो इस क्लस्टर के बाद कुछ ही सालों में बढ़कर पांच हजार करोड़ से ज्यादा का हो जाएगा और इससे 12 हजार से अधिक लोगों को सीधे रोजगार मिलेगा। सरकार को भी जीएसटी में 400 करोड़ हर साल राजस्व मिलेगा।

भारत में सबसे अधिक फर्नीचर चाइना से ही आता है। कोरोना महामारी के बाद चाइना की जगह देश में ही फर्नीचर उत्पादन की संभावना अधिक हुई है, ऐसे में इंदौर और प्रदेश के लिए यह बड़ा अवसर है।

Comments

Related Posts

आईआईटी इंदौर ने एक और पेटेंट अपने नाम किया है। संस्थान के इलेक्ट्रॉनिक्स विभाग के छात्र ने ‘एन ...
iHDteam
February 26, 2021
मध्यप्रदेश के बस यात्रियों को झटका लगने वाला है। गुरुवार को परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने 1 ...
iHDteam
February 26, 2021
कोरोना काल के बाद से जहां एक और कई ट्रेनों पर प्रतिबन्ध था लेकिन अब इंदौर से एक और ट्रेन चलाने की ...
iHDteam
February 25, 2021
X